Ravidas Jayanti 2023 – Wishes,status & SMS संत रविदास दोहे

Today We are Sharing guru ravidas Jayanti status for Whatsapp & guru ravidas jayanti 2023 with You. Here We give Large Collection of Bestguru ravidas Jayanti quotes. The god is the best strange and origin of us. Everyone is incomplete guru ravidas. .Today we are sharing here top guru ravidas Jayanti status for Whatsapp & guru ravidas Jayanti quotes for WhatsApp in Hindi with you. These status are a collection of the famous and popular guru ravidas Jayanti 2023 guru ravidas Jayanti status, guru ravidas Jayanti quotes, guru ravidas Jayanti wishes, guru ravidas Jayanti images Friends are very much in demand. 

Happy Guru Ravidas Jayanti 2023 Wishes & SMS  


Ravidas Jayanti 2020 - Wishes,status & SMS संत रविदास दोहे
Ravidas Jayanti 2023 – Wishes,status & SMS संत रविदास दोहे



जाति-जाति में जाति हैं,जो केतन के पात।रैदास मनुष ना जुड़ सके जब तक जाति न जात।।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।




 

प्रभु जी तुम चन्दन हम पानी,तो ही मोहि मोहि तोहि अंतर कैसा,तुझाइ सुझंता कछू नाहै,चल मन हर चत्सल पढ़ाऊँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती। 

  


  

  मन चंगा तोह कठौती में गंगा।संत परंपरा के महान योगी औरपरम ज्ञानी संत श्री रविदास जी को कोटि कोटि नमन।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।    





Guru Ravidas Jayanti 2023 SMS



कह रैदास तेरी भगति दूरि है,भाग बड़े सो पावै।तजि अभिमान मेटि आपा पर,पिपिलक हवै चुनि खावै।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।


 




हिंदू तुरक नहीं कछु भेदा सभी मह एक रक्त और मासा।दोऊ एकऊ दूजा नाहीं,पेख्यो सोइ रैदासा।।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जी जयंती।




SANT Guru Ravidas Jayanti Quotes In Hindi And English



मन चंगा तोह कठौती में गंगा।संत परंपरा के महान योगी औरपरम ज्ञानी संत श्री रविदास जी को कोटि कोटि नमन।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।


 

 


 

  If you cannot do well, at least do not harm others. If you cannot live like a flower, At least don’t live like a thorn. Happy Guru Ravidas Jayanti.





Our universal creator is the god. By the grace of God, a happy bride knows the value of her husband.Happy Guru Ravidas Jayanthi.




कह रैदास तेरी भगति दूरि है,भाग बड़े सो पावै।तजि अभिमान मेटि आपा पर,पिपिलक हवै चुनि खावै।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।



 


sant Ravidas Jayanti Status For Facebook And WhatsApp


हरि-सा हीरा छांड कै,करै आन की आस।ते नर जमपुर जाहिंगे,सत भाषै रविदास।।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।




May you find solace from your spiritual Guru like Meera did!Happy Guru Ravidas Jayanti!






मन चंगा तोह कठौती में गंगा।संत परंपरा के महान योगी औरपरम ज्ञानी संत श्री रविदास जी को कोटि कोटि नमन।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।


 




Guru Ji Main Teri Patang Hawa Wich Udd Di Jawangi Guru Ji Dor Hattho Na Chhadi Main Katti Jawaan Gi Gur Ravidas Jayanti Di Lakh Lakh Wadhaiyaan!






If you cannot do well, at least do not harm others. If you cannot live like a flower, At least don’t live like a thorn. Happy Guru Ravidas Jayanti.


 

 




हरि-सा हीरा छांड कै,करै आन की आस।ते नर जमपुर जाहिंगे,सत भाषै रविदास।।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।




Short Happy Guru Ravidas Jayanti 2023 Status


कह रैदास तेरी भगति दूरि है,भाग बड़े सो पावै।तजि अभिमान मेटि आपा पर,पिपिलक हवै चुनि खावै।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।






जाति-जाति में जाति हैं,जो केतन के पात।रैदास मनुष ना जुड़ सके जब तक जाति न जात।।गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाइयाँ।हैप्पी गुरु रविदास जयंती।




 


Guru Ji Main Teri PatangHawa Wich Udd Di JawangiGuru Ji Door Hattho Na ChhadiMain Katti Jawaan Gi…Gur Ravidas Jayanti Di Lakh Lakh Wadhaiyaan…Happy Ravidass Jayanti…





Raag Soohee, The Word Of Sree Ravi Daas Jee:One Universal Creator God. By The Grace Of The True Guru:The happy soul-bride knows the worth of her Husband Lord.Renouncing pride, she enjoys peace and pleasure.


 



अगर एक आर्य अकेला है तो उसे स्वयं अध्ययन करना चाहिए,अगर दो हो तो उन्हें परस्पर प्रश्नोत्तर करना चाहिए,और अगर एक से ज्यादा हो तो उन्हें सत्संग करना चाहिए और वेदो के अध्याय पढ़ने चाहिए।हैप्पी गुरु रविदास जी जयंती।


     


 

    
     

संत रविदास दोहे



   कृस्न, करीम, राम, हरि, राघव, जब लग एक न पेखा।वेद कतेब कुरान, पुरानन, सहज एक नहिं देखा।।    






    कह रैदास तेरी भगति दूरि है, भाग बड़े सो पावै।तजि अभिमान मेटि आपा पर, पिपिलक हवै चुनि खावै।      







     रैदास कनक और कंगन माहि जिमि अंतर कछु नाहिं।तैसे ही अंतर नहीं हिन्दुअन तुरकन माहि।।      







      हिंदू तुरक नहीं कछु भेदा सभी मह एक रक्त और मासा।दोऊ एकऊ दूजा नाहीं, पेख्यो सोइ रैदासा।।      







    हरि-सा हीरा छांड कै, करै आन की आस।ते नर जमपुर जाहिंगे, सत भाषै रविदास।।      




 


   वर्णाश्रम अभिमान तजि, पद रज बंदहिजासु की।सन्देह-ग्रन्थि खण्डन-निपन, बानि विमुल रैदास की।।    




 


  जाति-जाति में जाति हैं, जो केतन के पात।रैदास मनुष ना जुड़ सके जब तक जाति न जात।।

   





   रैदास कनक और कंगन माहि जिमि अंतर कछु नाहिं।तैसे ही अंतर नहीं हिन्दुअन तुरकन माहि।।    






    हिंदू तुरक नहीं कछु भेदा सभी मह एक रक्त और मासा।दोऊ एकऊ दूजा नाहीं, पेख्यो सोइ रैदासा।।    





   कह रैदास तेरी भगति दूरि है, भाग बड़े सो पावै।तजि अभिमान मेटि आपा पर, पिपिलक हवै चुनि खावै।।


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top